Suhagrat Kaise Manaye

0

Suhagrat Kaise Manaye

सुहागरात कैसे मनायें?

बात पहली रात की..

Suhagrat, Suhagrat Tips, Honeymoon Tips, First Night Tips

पहली रात को असफल होना अधिकतर युवाओं की समस्या है। जल्दबाजी या उतावलेपन के कारण शीघ्रपतन का शिकार होना स्वाभाविक है। इससे परेशान नहीं होना चाहिए। अगली रात और उससे अगली रात को प्रयास करना चाहिए। एक-दो रात के बाद सफलता मिल ही जायेगी।
इस विषय में कई हेल्थ और सेक्स से जुड़े विशेषज्ञों का कथन है कि पहली रात को युवा अधिक घबराये होते हैं, इसलिए उन्हें असफलता हाथ लगती है। इस घबराहट को दूर करने के लिए आप अपना ध्यान पत्नी में बांटें। उससे प्यार भरी बातें करें। इसके अलावा चुम्बन तथा आलिंगन करें। पहली रात में पति द्वारा असफल होने पर पत्नी को अपनी किस्मत को नहीं कोसना चाहिए। उसे भी धैर्य से काम लेना चाहिए। पहले-पहल किसी अनजाने काम को करने पर असफलता मिल सकती है।

आप यह हिंदी लेख Chetanonline.com पर पढ़ रहे हैं..

सुहागरात से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य-

सुहागरात के दौरान निम्नलिखित बातों पर ध्यान देना चाहिए..

Suhagrat Kaise Manaye

1. तुरन्त सेक्स संबंध बनाने की कोशिश न करें। धैर्य रखें कि क्योंकि पूरी रात और पत्नी ये दोनों ही आपकी हैं। परिस्थिति को समझें और माहौल को सकारात्मक बनाने का प्रयास करें, एक-दूसरे के साथ पहले पूरी तरह कफंर्टेबल महसूस करें। उसके बाद ही आगे बढ़ें।

2. एक-दूसरे को समझें, परिस्थिति को परखें व अच्छे से जानने का प्रयास करें। पत्नी की सहजता का भी विशेष ध्यान रखें। यानी वह कैसा महसूस कर रही है, घबराई हुई या नर्वस तो नहीं है, हर परिस्थिति में उसका ध्यान रखने की जरूरत है। उसका साथ देने की जरूरत है।

3. जल्दबाजी से काम बिल्कुल न लें, धीरे-धीरे सुहागरात को आगे बढ़ायें। इससे आपकी छवि पत्नी के सामने एक आदर्श व धैर्यवान पुरूष के रूप में उभर कर आयेगी।

4. अपनी दुल्हन से प्रेम भरी बातें पूरे विश्वास के साथ करें। पत्नी को भी लगना चाहिए कि जो पुरूष अकेले कमरे में उसके साथ है, वह कोई अनजाना नहीं, बल्कि उसका पति है, जिसके साथ उसे अपनी पूरी जिंदगी गुजारनी है।

यह भी पढ़ें- धात रोग

5. जब पत्नी के साथ आप संभोग के लिए आगे बढ़ रहे हों, तो आरम्भ में रोमांटिक बातें पत्नी से करें। उसे सहलायें, चूमें तथा उसके संवेदनशील अंगों को छेड़ें व स्पर्श कर सहलायें। हो सकता है कि ऐसा करने से स्त्री आपको रोके। ऐसे में आप अपने मन में बुरी बातें न लायें। स्त्री भय और शर्म के कारण भी ऐसा कर सकती है।

6. स्त्री की स्वीकृति मिल जाने के बाद ही सेक्स संबंध बनायें। जबरदस्ती न करें और न ही कोई दबाव बनायें।

7. यदि स्त्री मानसिक रूप से या किसी अन्य कारणवश सहवास के लिए तैयार न हो तो अपने आप पर काबू रखें और उस वक्त बिना नाराजगी या क्रोध व्यक्त किए, पत्नी की बात का सम्मान करें। ऐसा करने पर पत्नी भी आपका दिल से सम्मान करेगी।

8. किसी के बहकावे में आकर उस रात शराब, अफीम या कोकीन आदि नशीले पदार्थों का सेवन न करें। इनसे सेक्स पाॅवर नहीं बढ़ती। इसके नशे में आपको सही आनंद नहीं मिल पायेगा। स्त्री भी आनंद से वंचित रह जायेगी।

9. पहली रात को ही पत्नी से निर्वस्त्र होने की फरमाइश न करें।

Suhagrat Kaise Manaye

10. पहली रात को मुख मैथुन न करें। न ही उसे इसके लिए मजबूर करें।

11. प्रथम बार योनि में शिश्न प्रवेश करने में थोड़ी परेशानी हो सकती है। कभी-कभी तनाव तथा भय की वजह से भी स्त्री अपनी योनि को सिकोड़ लेती है। ऐसे में शिश्न को योनि में प्रवेश कराना मुश्किल होता है।

यह भी पढ़ें- ल्यूकोरिया (सफेद पानी आना)

Suhagrat Kaise Manaye

12. स्त्री अपनी प्रशंसा सुनना काफी पसंद करती है। खासकर खूबसूरती की तारीफ उसे काफी पसंद होती है, इसलिए उसकी खूबसूरती की दिल से प्रशंसा करें। वह जल्द ही खुद को आपके हवाले कर देगी।

13. पहली रात को पत्नी की भावनाओं से खेलकर उसके अतीत(पास्ट) के बारे में जानने की कोशिश न करें।

14. पहली रात को खुद भी अपने अतीत में आई किसी लड़की के बारे में बढ़ा-चढ़ा कर न बतायें। इससे पत्नी के दिल को आघात पहुंच सकता है, जिससे आपकी सुहागरात फीकी पड़ सकती है।

उपरोक्त बताये गये सुहागरात से संबंधित बातों का रखें ध्यान और अपनी सुहागरात को बनायें एक यादगार रात।

सेक्स समस्या से संबंधित जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें..http://chetanclinic.com/

Summary
Suhagrat Kaise Manaye
Article Name
Suhagrat Kaise Manaye
Description
इस हिदी ब्लाॅग में स्त्री/पुरूष (Male/Female) के गुप्त रोग (Gupt Rog) और सेक्स समस्या (Sex Problem) का इलाज (Treatment ) की पूरी जानकारी दी गई है। 9211166888
Author
Publisher Name
Chetan Anmol Sukh
Publisher Logo

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *