Safed Pani Ka Gharelu Ilaj

0

Safed Pani Ka Gharelu Ilaj

सफेद पानी का घरेलू इलाज

श्वेत प्रदर (ल्यूकोरिया)

Leukorrhea, Safed Pani Aana, Likoria, Leucorrhea Treatment

सफेद पानी गिरना महिलाओं को होने वाली समस्या है, जिसमें उनके यौनमार्ग से जल के समान थोड़ा-थोड़ा स्त्राव होता है। इस निकलने वाले द्रव्य का रंग सफेद होता है, इसलिए इसे श्वेत प्रदर भी कहा जाता है, जिसका अंग्रेजी उच्चारण ल्यूकोरिया होता है। यह पानी चिपचिपा गंधयुक्त होता है। कभी-कभी ये पानी पीला, मटमैला रंग में भी निकलता है।

यूं तो स्त्रियों को होनी वाली यह समस्या एक साधारण समस्या है, जोकि कभी-कभी शरीर में अंदरूनी विकार होने के कारण भी हो जाती है। महिलाओं को सफेद पानी आना वास्तव में खुद अपने आप में कोई गंभीर रोग नहीं है, बल्कि यह तो अन्य रोग का केवल एक लक्षण मात्र है। ल्यूकोरिया होने पर महिलाओं को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इस परेशानी में स्त्रियों का स्वभाव अत्यधिक चिड़चिडा हो जाता है, जरा-सी बात पर भी क्रोध आने करने लगती है, हाथ-पैर में दर्द की शिकायत, पिंडलियों में दर्द, आलस्य महसूस होना, अरूचि, किसी भी काम में मन नहीं लगना इत्यादि।

आप यह हिंदी लेख Chetanonline.com पर पढ़ रहे हैं..

श्वेत प्रदर के मुख्य कारणों पर प्रकाश डाला गया है, ध्यान दें..

सफेद पानी गिरने के कारण- 

Safed Pani Ka Gharelu Ilaj

1. पोषक तत्वों की कमी-
महिलाओं में पोषक तत्वों के अभाव में भी ल्यूकोरिया की समस्या उत्पन्न हो जाती है। इसलिए महिलाओं को चाहिए कि अपने खानपान पर विशेष ध्यान दें। सयंमित दिनचर्या के साथ-साथ संतुलित भोजन करें और पोषक आहार सेवन करें। पूरी तरह से पोषण न मिल पाना भी चिंता का एक प्रमुख कारण हो सकता है। दरअसल ऐसा देखा गया है कि जिन स्त्रियों में खून की कमी होती है, वे श्वेत प्रदर से अधिक ग्रस्त पायी जाती हैं।

2. यौन संक्रमण-
ऐसी कई बीमारियां हैं, जो श्वेत प्रदर को बुलावा देती हैं। ऐसा भी देखा गया है कि रक्त की कमी और डायबिटीज से पीड़ित महिलायें श्वेत प्रदर से अधिक पीड़ित होती हैं। एक और मुख्य कारण है ल्यूकोरिया के लिए और वो है यौन संक्रमण। मल-मूत्र के बाद योनि की साफ-सफाई न करना यौन संक्रमण का मुख्य कारण होता है। इसी कारण से योनि से निकलने वाले स्राव में बहुत तीव्र दुर्गंध आती है।
इसके अलावा अंडरगारमेन्ट् को रोजाना न बदलना, पीरियड्स होने पर योनि की स्वच्छता का ध्यान रखना, बहुत ज्यादा पसीना आना इन कारणों से भी ल्यूकोरिया की समसया हो जाती है। इस बात का भी ध्यान रखें कि यह अन्य महिला से भी जिसे पहले से यौन संक्रमण हो, फैल सकता है। और ऐसा तब होता है, जब आप स्त्रियां आपस में एक-दूसरे का अंडर गारमेन्ट्स बदल लें और पहन लें। यौनी मार्ग चोटिल होने के कारण भी सफेद पानी की समस्या होती है।

3. हार्मोन बदलाव-
हार्मोन में परिवर्तन होने से, खासकर जब महिला गर्भवती हो तो उनकी यौन-स्थली से चिपचिपा सफेदनुमा द्रव्य रिसने लगता है।

श्वेत प्रदर होने पर कैसा हो खानपापन?

हल्का और सादा भोजन लें। मीठे व तले हुए पदार्थ अधिक मात्रा में न सेवन करें, डेयरी उत्पादों से बचें। अधिक तेज मिर्च मसालों, गरम मसालों वाला भोजन न करें। फ्रेश फल और सब्जियां जितनी हो सके सेवन करें। जैसे- संतरे, क्रैनबेरी, हरी सब्जियां, नींबू, भिंडी और आम जैसे आहार को शामिल कीजिए। ऐसा भोजन करें जो सरलता से पाचन योग्य हो। पानी अधिक पीयें।

यह भी पढ़ें- धात रोग

श्वेत प्रदर से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय-

1. रोजाना एक से दो कच्चे टमाटर खायें, सफेद पानी गिरना बंद हो जायेगा।

2. प्रतिदिन प्रातः-सायं प्याज का रस 2 चम्मच लें और समान मात्रा में ही मधु मिलाकर पिएं, श्वेत प्रदर में आराम मिलेगा।

3. जीरे को अच्छे से भूनकर चीनी के साथ सेवन किया जाये तो सफेद पानी गिरने की समस्या में आराम पहुंचता है।

4. आंवला और शहद का प्रयोग श्वेत प्रदर के उपचार में बहुत उपयोगी साबित होता है। इसके लिए आंवला का रस निकाल कर शहद के साथ लगभग एक माह तक सेवन करें। ल्यूकोरिया समाप्त हो जाता है।

Safed Pani Ka Gharelu Ilaj

Safed Pani Ka Gharelu Ilaj

5. केला और शहद का सेवन होता है श्वेत प्रदर में बहुत लाभकारी। यदि आप चाहती हैं कि आपको सफेद पानी गिरना बंद हो जाये, तो इसके लिए आप प्रतिदिन केले का सेवन करें और शहद मिला हुआ दूध पीयें। ये उपाय बहुत गुणकारी है। इस उपाय से एक ओर जहां आपकी सेहत बनेगी, वहीं दूसरी ओर लगातार सफेद पानी गिरने के कारण आई कमजोरी भी दूर होगी। लगभग 3 माह तक यह नुस्खा करें। एक बात का और ध्यान रखें कि जब भी दूध में शहद का उपयोग करें, तो पहले दूध को ठंडा हो जाने दें।

6. कच्चे केले से निर्मित सब्जी का ज्यादा से ज्यादा सेवन करें।

7. रक्तअल्पता के कारण भी कभी-कभी ल्यूकोरिया की समस्या महिलाओं को हो जाती है। इसलिए रक्तअल्पता को दूर करने के लिए जितना हो सके हरी सब्जियों को सेवन करें। फल खायें, गाजर, चुकन्दर आदि सेवन करें।

यह भी पढ़ें- स्वप्नदोष

8. तेज मिर्च मसालेदार, तनी-भूनी चीजें नहीं खायें। यदि पूरी तरह नहीं छोड़ सकते तो बहुत कम कर दें।

9. सबसे मुख्य बात ल्यूकोरिया यौन समस्या से संबंधित है, इसलिए जरूरी है कि अपने यौनांगों की स्वच्छता का ध्यान रखें।

10. मैदे से निर्मित कोई भी चीज बिल्कुल न सेवन करें।

11. तुलसी और शहद से पायें ल्यूकोरिया में आराम। तुलसी का रस एक बड़े चम्मच में लेकर और उतनी ही समान मात्रा में शहद मिला लें। तत्पश्चात् इसका सेवन कर लें। यह उपाय अचूक है। बहुत जल्द आराम पहुंचायेगा।

12. 20-25 हरे-हरे पत्ते अनार के लेकर इन्हें काली मिर्च के साथ बहुत अच्छे से पीस लें। इसे पिस हुए मिश्रण को आधा ग्लास पानी में मिलाकर छान लें और उसके बाद पी जायें। यह उपाय रोजाना सुबह-शाम करना है। देखते ही देखते श्वेत प्रदर की समस्या छू-मंतर हो जायेगी।

सेक्स समस्या से संबंधित अन्य जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें..http://chetanclinic.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *