जानें सेक्स से जुड़ी कुछ खास बातें Jane Sex Se Judi Kuch Khas Baten

Published by: 0

सेक्स अनादि काल से चला आ रहा एक ऐसा प्राकृतिक चक्र है, जिसका पहियां कभी नहीं रूक सकता। वैसे देखा जाये तो हमारे जीवन का मूल आधार ही सेक्स है। सेक्स से ही आप और हम हैं और ये सृष्टि है, इसलिए सेक्स हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा है। कई लोग सेक्स को आनंद के रूप में देखते हैं, तो कई शारीरिक संतुष्टी के रूप में, कोई संतानोपत्ति के रूप में तो कोई इसे केवल औपचारिकता के तौर पर लेते हैं।

जैसे जीवित रहनेे के लिए भोजन, हवा, पानी जरूरी है, उसी प्रकार सेक्स भी हमारे जीवन के लिए उतना ही जरूरी है और इसके लिए हमें सेक्स के सही पहलुओं का ज्ञान होना बहुत जरूरी है। सेक्स और सेक्स से जुड़े छोटे-छोटे पहुलओं का अगर हमें ज्ञान होगा तो हम अपनी सेक्स लाइफ को और भी बेहतर बना पायेंगे।

आइए जानें सेक्स से जुड़ी कुछ खास बातें..

सेक्स के बारे में बात करें :

चाहे आपका रिश्ता और साथ कितना ही पुराना क्यों न हो, मगर सेक्स के विषर पर आपस में चर्चा करना हमेशा से आपके लिए मुश्किल ही बना रहता है। खासकर बिस्तर पर अपने पार्टनर की जो बातें आपको पसंद-नापसंद होती हैं, उन पर बात करना, आपको पहाड़ तोड़ने जैसा काम लगगता है। जहां तक सेक्स करने की बात है, वो आपको पसंद है, लेकिन सेक्स के बारे में बात करना आपको बिल्कुल नहीं सुहाता, जोकि गलत बात है।
अगर आप बिस्तर पर सेक्स के बारे में एक-दूसरे से बातें करेंगे, अपनी पसंद-नापसंद शेयर करेंगे, तो इससे आपकी सेक्स लाइफ बेहतर बनेगी और आपका रिश्ता भी मधुर बना रहेगा। इसलिए आपको चाहिए कि बिना संकोच के अपने पार्टनर के साथ सेक्स के बारे में खुलकर बात करें। याद रखें जितना आप नर्वस हैं, उतना ही आपका पार्टनर भी होगा, इसलिए झिझके नहीं।
ऐसा भी जरूरी नहीं है कि आप अपने पार्टनर के साथ बिस्तर पर हैं, तो सेक्स करना ही है। अगर आपको या आपके पार्टनर को केवल स्पर्श से ही आनंद प्राप्त हो रहा है, तो ऐसा ही होने दें। प्यार से एक-दूसरे का हाथ पकड़ कर बातें कर सकते हैं। इसका भी अपना ही एक अगल मजा है।
अगर आपकी सेक्स करने की तीव्र इच्छा है, तो आप अपने पार्टनर से अपनी फिलिंग जाहिर करें और यदि वह आपकी इच्छा की कद्र करते हुए ‘हां’ कहता है, तो ही आगे बढ़ें।

आप यह आर्टिकल chetanonline.com/blog पर पढ़ रहे हैं..

आपस में एक-दूसरे की इच्छा को जानें :

संभोग करने से पहले, संभोग के दौरान या संभोग के बाद आपको चाहिए कि एक-दूसरे की इच्छा को जानें व समझे। अगर संभोग से पहले या संभोग के दौरान ऐसा करते हैं, तो सेक्स का आनंद दोगुना तो होगा ही, साथ ही आप एक-दूसरे के साथ रिलेक्स महसूस करेंगे और आपसी रिश्ता भी गहरा होगा। संभोग के दौरान केवल अनुमान न लगायें, अपने पार्टनर से पूछ कर ही कोई सेक्सुअल क्रिया करें, क्योंकि आपका अनुमान गलत भी हो सकता है। शायद आपको लगे कि आप जो यौन-क्रीड़ा कर रहे हैं, उससे आपके साथी को आनंद मिल रहा है, मगर हो सकता है इससे आपके पार्टनर को तकलीफ हो रही हो और वह केवल आपकी खुशी के लिए या दबाव में कोई प्रतिक्रिया ना दे रहा हो, इसलिए अपनी इच्छा बताएं और अपने साथी की इच्छा के बारे में पूछें। ऐसा करने से बहुत-सी परेशानियों से बचा जा सकता है और सेक्स भी बेहतर हो जाता है।

संभोग को खेल का रूप देकर रोचक बनाएं :

संभोग के दौरान कुछ अलग हटकर करने से सेक्स यानी संभोग का मजा ही दोगुना हो जाता है। जैसे कि हमने पहले भी बताया कि एक-दूसरे की इच्छा को जानें और वैसा ही संभोग करें, तो इसके लिए आप कागज की पर्चियां बना कर, उस पर अपनी इच्छा लिखकर बता सकते हो, कि आप कैसा सेक्स करना चाहते हैं, किस पाॅजिशन या आसन में सेक्स करने का मन है या फिर सेक्स लिए कौन सा स्थान, जैसे बाथरूम में नहाते हुए संभोग, दीवार के सहारे खड़े होकर संभोग या फिर सोफे में या बिस्तर पर ही संभोग करना चाहते हैं।
ऐस करने से जहां आप संभोग में ताजगी और जोश महसूस करेंगे, वहीं ये पल, एक रोचक पल बन जायेगा, जो आपको याद आने पर एक गुदगुदी-सी कर जायेगा। इससे आपकी उत्तेजना भी बढ़ेगी, जिस कारण आपको सेक्स में चरम तक पहुंचने में आसानी रहेगी।

ऐसी बातें जिनसे सेक्स बेहतर होता है :

आप जिससे प्यार करते हैं, अगर वो आपको स्पर्श करे, आपको स्नेह से सहलाए तो आपको अच्छा लगे, यह स्वाभाविक है। मगर किसी से प्यार करने का मतलब यह नहीं होता कि आप उनके साथ सेक्स करना चाहते हैं।
अगर आपको पता है या फिर इस बात का आभास है कि आप जिस स्थान पर सेक्स करने वाले हैं या कर रहे हैं, वहां किसी के आने से या देख लेने से विघ्न पड़ सकता है, तो वह स्थान सेक्स के लिए बिल्कुल चयन ना करें। ऐसे स्थान पर सेक्स करने से आप पूरी तरह से संभोग का आनंद नहीं ले पायेंगे और ना ही आपका पार्टनर एन्ज्वाॅय कर पायेगा।
सेक्स में मानसिक तौर पर शांत रहना बहुत जरूरी होता है, इसलिए सेक्स में सावधानी लेकर चलें। सेक्स करने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि आप यौन संक्रमण से सुरक्षित रहेंगे और गर्भवती होने का भी कोई खतरा नहीं है। इसके लिए कंडोम का इस्तेमाल कर सकते हैं।
सेक्स के दौरान अलग-अलग पैंतरे या आसन अपनाएं, जिससे पता चल सके कि आप दोनों को क्या पसंद है और किस प्रकार के सेक्स में आप दोनों आरामदायक व आनंद महसूस करते हो।
सेक्स की इच्छा ना हो तो सेक्स नहीं करना चाहिए और ना ही इसके लिए एक-दूसरे पर दबाव बनाना चाहिए। सेक्स ना करने की इच्छा के कारण जैसे- आपकी तबियत ठीक नहीं है, सिरदर्द हो या सर्दी-जुकाम हो या फिर कोई अन्य कारण हो, तो आपकी सेक्स में रूचि नहीं रहती।

NO का मतलब NO :

कई पुरूषों को लगता है कि लड़कियों या स्त्रियों की ‘ना’ में भी ‘हां’ होती है। जबकि ऐसा सोचना या मानना बिल्कुल सही नहीं है। अगर एक बार लड़की ने ‘ना’ कर दी, तो उसका मतलब केवल ‘ना’ ही होता है। उसकी ‘ना’ को जबरन उसकी ‘हां’ समझ कर उसे किसी भी सेक्सुअल एक्टिविटी के लिए मजबूर नहीं करना चाहिए। यदि बिस्तर पर पत्नी भी ‘ना’ कहे, तो उसका भी सीधा-सादा सा मतलब ना में ही लेना चाहिए। अगर पति ये सोचकर कि ये उनका हक है, कोई यौनिक क्रिया पत्नी की इच्छा के विरूद्ध करते हैं, तो ये भी एक प्रकार से बलात्कार की श्रेणी में आता है।
लड़का हो या लड़की दोनों को किसी भी समय या स्थिति में ‘ना’ कहने का पूरा हक है। फिर चाहे सेक्स के दौरान दोनों ने वस्त्र पहन रखे हों या ना पहन रखें हो, कामेच्छा कितनी भी प्रबल स्थिति में क्यों न पहुंच गई हो, अगर दोनों में से किसी भी एक पार्टनर को असहजता महसूस हो, तो उसे ‘ना’ कहने का पूरा-पूरा हक है।
विशेषकर पुरूषों को यह बात ध्यान में रखनी चाहिए कि वे अपनी महिला साथी की ‘ना’ का मतलब ‘ना’ में ही लें। उनकी ‘ना’ को ‘हां’ समझने की मूर्खता ना करें और ना ही इस गलतफहमी में रहें। सच्चे प्रेमी वही करते हैं, जिसमें दोनों की खुशी शामिल हो। अपनी महिला साथी की इच्छा व भावनाओं का सम्मान करना चाहिए और जो पुरूष ऐसा नहीं करते हैं, तो उनकी महिला साथी ये जान लें कि ऐसे पुरूष उनके प्रेम के लायक ही नहीं हैं।

सेक्स से संबंधित अन्य जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.. http://chetanonline.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *